सफ़ेद पानी की समस्या

लड़कियां जब युवावस्था मे प्रवेश होते हैं तो उनके सामने कई प्रकार की समस्याएं आती हैं। उन्माद में योनि स्राव की समस्या भी एक है। इस अवस्था में उनके गुप्तागों से काफी मात्रा में तरल पदार्थ निकलता हैं स्त्रियों या लड़कियों में होने वाला रोग है जिससे महिला की योनि से सामान्य मात्रा में सफ़ेद, गाड़ा बदबूदार प्रदार्थ निकलता है |

लूकोरिया की समस्या 13 साल की उम्र की लड़की से लेकर वृद्ध महिला को तक हो सकती है जिसे आम बोल-चाल की भाषा में सफ़ेद पानी भी की शिकायत भी कहते है शुरुआती दिनों में सफ़ेद दही जैसा गाड़ा, पीला और हरा रंग लिए और कसमार दर्द के साथ होता है |

अधिकतर महिलाएं इस गलत फैमी में होती है कि सफेद पानी के जाने से शरिर में कमजोरी आती है, चक्कर आता है, बदन में
दर्द होता है |

श्वेत प्रदर ( सफेद पानी / लिकोरिया ) के लक्षण -

  • कमर दर्द होना
  • चक्कर आना
  • योनि स्थल पर खुजली होना
  • कमजोरी बनी रहना
  • योनि स्थल से बदबू आना
  • महिला को गर्भावस्था के दौरान शरीर में होने वाले हॉर्मोन्स के बदलाव के कारण बहुत से बदलाव उनके शरीर में भी आते है, जैसे की महिला की योनि में से सफ़ेद पानी (white disharge) का गिरना, क्या आप भी पहली बार माँ बनने का अनुभव लेने जा रही है? और आपकी योनि में से सफ़ेद पानी के आने की समस्या के कारण परेशान है? तो आपको परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है, क्योंकि ये लक्षण आपको योंन अवस्था से लेकर तब तक दिखता रहता है, जब तक की औरत प्रजनन करने में सक्षम होती है।

    सफ़ेद पानी में मृत कोशिकाएं बाहर आती है, जो की आपकी योनि को साफ़ और इन्फेक्शन से बचाने का काम करता है। परंतु इसका ज्यादा मात्रा में गर्भावस्था के दौरान इस बात का संकेत होता है की आपका हॉस्पिटल जाने का समय आ गया है, और यदि आपको ये आखिरी महीने से पहले ज्यादा मात्रा में आने लगता है, तो आपको बिना देरी किये तुरत जाकर अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए, बाकी गर्भावस्था के समय इसका सामान्य रूप से आना एक आम बात होती है।

    प्रेगनेंसी की पहली तिमाही ( 1st to 13 weeks ) में सफ़ेद पानी -

    पहली तिमाही में यह पतला और रंगहीन होता है, और समय के साथ ये गाढ़ा हो जाता है, और ये पहली तिमाही में ज्यादा मात्रा में होता है, और यदि आपको इसके कुछ लक्षण असमान्य दिखे तो आपको इस बारे में अपने डॉक्टर से राय लेनी चाहिए।

    दूसरी तिमाही ( 14 to 26 weeks ) में -

    दूसरी तिमाही में ये अंडे के सफ़ेद भाग की तरह निकलता है, और यह गंढीं और सामान्य रंग का ही होता है, परंतु यदि आपको इसके साथ खून देखने को मिलता है, तो इस बारे में आप अपने डॉक्टर से राय ले सकते है।

    तीसरी तिमाही ( 27 to 40 weeks ) में -

    तीसरी तिमाही में भी इसका आना सामान्य होता है, और कई बार इसके साथ खून के थक्के भी आने लगते है, आप चाहे तो इस बारे में अपने डॉक्टर से राय ले सकते है, परंतु तीसरी तिमाही में खून के थक्के आना आम बात होती है।

    फाइनल स्टेज पर -

    डिलीवरी के आस पास इसका आना यह संकेत देता है की गर्भ में पल रहा शिशु अपने आप को बाहर लाने के लिए तैयार कर रहा है, और कभी आपको पेशाब की तरह यह आने लगे, तो इसे देखकर घबराने की जरुरत नहीं होती है, यह amniotic fluid का लीकेज होता है, और यह इस बात का संकेत होता है, की आप हॉस्पिटल जाने वाली है।

    क्या सफ़ेद पानी का आना बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है -

    नहीं, सफ़ेद पानी बच्चे की सुरक्षा के लिए बनता है, इसके कारण बच्चे को कोई नुकसान नहीं होता है, यदि आपको किसी तरह का इन्फेक्शन हो जाये तो यह नुकसान कर सकता है, इसीलिए जरुरी है की आप अपनी योनि की साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखें, इससे इन्फेक्शन का खतरा कम होता है।

    रंग से पहचाने की सफ़ेद पानी नार्मल (सामान्य) है या एब्नार्मल (असामान्य)?

    साफ और पानी की तरह - इसमें डरने वाली कोई बात नहीं है क्युकी किसी भी महीने में ये आ सकता है और ये पूरी तरह सामान्य है क्युकी कभी-कभी ये ज़्यादा भारी सामान, या भारी कसरत करने से भी हो जाता है सामान्यत इस्ट्रोजन हॉर्मोन उत्तेजित होने से सफ़ेद पानी आता है ये बिलकुल सामान्य है

    साफ और खींचने जैसा- ये भी पूरी तरह सामान्य होता है क्युकी जब अंडाशय (ओवुलेशन) होता है तो सामान्य तोर पर ये निकलता है महीने के चोदवे दिन पर अगर इसमें आपको कोई खुजली, पेट के निचले हिस्से में दर्द हो तो कोई बदबू हो तो कोई संक्रमण भी हो सकता है

    पीला रंग/हरा - इसका मतलब आपको कोई इंफेक्शन हो गया है

    कथई और लाल - ऐसे भी सामान्य कह सकते है क्युकी महीना खत्म होने के आखिर में जो थोड़ा डिस्चार्ज निकलता है वो सामान्य है पर ये इस बात पर निर्भर करता है ये निकल कब रहा है कभी-कभी गर्भावस्था में निकले तो ये गर्भपात के चान्सेस हो सकते है

    क्या कारण हो सकते है ?

    सामान्यत- खाने-पीने में कमी , खून की कमी (एनीमिया) कब्ज़, कोई पुरानी बीमारी, ज़्यादा चाय, कॉफ़ी पीने से , बैठे-बैठे करने वाला कोई काम लगातार महिला करती हो

    उम्र के हिसाब से सफ़ेद पानी की समस्या

    किशोरावस्था से पहले (BEFORE PUBERTY), साफ-सफाई का ध्यान न रखना , पेट में कीड़े , गोनोरिया इंफेक्शन

    कुंवारी लड़की किशोरावस्था में

    साफ-सफाई का ध्यान न रखना , बैठे -बैठे का काम करना , कोई खून की कमी , शादी-शुदा औरत में , साफ-सफाई न रखने से , बार-बार सेक्स करने से (Unprotected sex) , गर्भनिरोधक गोलिया लेने से (Birth Conrol Pills) , पेसेरी उसे करने से , गोनोरिया इंफेक्शन , या कोई पुरानी बीमारी से कैंसर

    कैसे बचे -

    सबसे पहले साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखे , योनि साफ रखे अच्छे से एंटीसेप्टिक से धोये पौष्टिक आहार ले ताकि कमज़ोरी न हो चाय कोफ़ी से दूर रहे एक चम्मच शहद, आधा चम्मच आँवले का चूर्ण मिलकर खाने से भी फाय होता है गाजर,पालक, चुकंदर का सुप ले

    होमियोपैथिक उपचार - लुकोसिन सिरप - बहुत ज़्यादा लाभकारी होती है और आपको कमज़ोरी भी नहीं होने देती है
    - Kreosote, Alumina, Calcarea carb, Borax, ले आप हमारे आपका डॉक्टर कलम से भी पूछ सकते है कैसे कोनसी दवा लेनी है

    "LEUCORRHOEA"

    A whitish or yellowish discharge of mucus from the vagina. Some discharges are Normal some are abnormal . it is a common problem in young girls. Along with other changes in the body, discharge from vagina may also be experienced by some girls.

    As the body undergoes some pubertal changes during the teenage years, a girl has to encounter several issues at the same time. Some of the major changes experienced due to the hormonal spurt are growth of hair in underarms and pubic area, increase in weight and height, changes in voice, enlargement of breasts and the most important of them all menstruation.

    Q - To know what Normal discharge from the vagina. What is Abnormal?

    A - White discharge
    Not necessarily abnormal. A little bit of white discharge, particularly at the start or end of your menstrual cycle, is normal. However, if the discharge is followed by itching and if it has a thick consistency with a cottage cheese texture, it could mean there is a yeast infection. If there is Pelvic Pain, odor, itching in Vagina - Bacterial vaginosis.

    Clean & Watery Discharge -
    Sometimes women complaints of clean & watery discharge it is Completely Normal, discharge come any time of the month, It may come particularly for after heavy workouts.

    Clear and Stretchy -
    When your discharge is clear and stretchy or looks like mucous instead of water, it is a sign that you are possibly ovulating. This is a healthy and perfectly normal discharge.

    Yellow Discharge -
    This can also be normal, but could potentially be a sign of an infection. Generally, when a yellow discharge is thick, chunky, or when it has a bad smell is abnormal. This form of discharge may be an indication of the infection trichomoniasis, which is frequently transmitted through sexual intercourse. Although many women with chlamydia or gonorrhea.

    Brown or bloody discharge
    If a woman has brown or Bloody discharge while she is menstruating or towards the tail end of a period, it may be normal. Depending on when it happens, it could even be spotting in between periods. If you experience spotting the normal time of your period and you have not long had unprotected sex, it could be an indication that you are pregnant. Spotting at an early phase of pregnancy can be a sign of miscarriage.

    Green Discharge
    This is usually abnormal and suggestive of an infection.

    Causes of Leucorrhea -

    General Causes
    1. Malnutrition
    2. Anaemia
    3. Sedentary habits
    4. Chronic illness
    5. Excess of tea and coffee
    6. Alcohol
    7. Occupation: women serving the whole day long
    8. Constipation
    9. Diabetes
    10. Intestinal worms
    Local Causes
    1. Gonorrhea
    2. Cervical erosion [when the soft cells (glandular cells) that line the inside of the cervical canal spread to the outer surface of cervix. The outside of cervix normally has hard cells (epithelial cells).
    3. Displacements of uterus retroversion.[ when theuterus rests habitually in a position beyond the limit of normal variation]
    4. Prolapsed of uterus [Uterine prolapse occurs when the uterus sags or slips from its normal position and into the vagina ]
    5. Cancer of all types
    6. Chronic salpingitis [inflammation of the fallopian tube]

    Cause of Leucorrhoea in Different Age Group

    Before puberty :
    1. Unhygienic conditions
    2. Worms
    3. Gonorrhoea
    Unmarried girls after puberty :
    1. Bad hygienic conditions during menses or otherwise
    2. Sedentary habits
    3. Any long continued chronic disease
    4. Congenital erosion of cervix
    In the married women :
    1. Bad hygienic conditions
    2. Gonorrhea
    3. Displace uterus retroversion
    4. Cancer of all types
    5. Long continued use of pessaries
    6. Chronic cervicitis or erosion
    7. Repeated and excessive intercourse
    8. Birth control measure
    9. Chronic ill-health
    10. Cancer of vulva
    11. Cancer of uterus
    12. Cancer of cervix
    13. Prolapse and ulcer
    14. Gonorrhea
    15. Chronic cervicitis
    16. Fungus infection
    17. Chronic ill-health

    Q - How can I deal with excess vaginal discharge?

  • Keep your outer genital area (vulva) between your vagina and anus (perineum) clean.
  • Use unscented soap and water when washing.
  • Don’t use scented wipes, perfumed bubble bath or vaginal deodorants.
  • Don’t rinse out your vagina (douching). This is likely to irritate the lining of your vagina and upset the natural bacterial balance. Vaginal discharge is normally quite acidic, so that good bacteria and natural antibiotics can keep harmful bacteria at bay. If you alter this natural balance, it could cause inflammation, or even an infection.

    Q - Leucorrhoea in Pregnancy?

    A - During pregnancy due to the increased blood flow to the vaginal area and the increase in pregnancy hormones, likes estrogen, you may notice more of this discharge.
    Many women experience the pregnancy discharge and it is nothing to be concerned about. That doesn't mean it isn't annoying or sometimes worrisome. You would want to report it to your doctor or midwife if it ever became:

  • Heavy discharge
  • Chunky
  • Foul-smelling
  • Copious (large quantity)
  • Changed in a manner that concerned you
  • These changes may indicate an infection or a need for further investigation. In some cases experiencing leukorrhea can mean that you should be tested for sexually transmitted infections (STI).

    HOMOEOPATHIC TREATMENT
    LEUCOCIN SYRUP (FOR LEUCORRHOEA) this is very beneficial & effective.
    Another medicine- Kreosote, Alumina, Calcarea carb, Borax, according to symptoms you can ask Doctors column
    Also in our mail id - infonewlifeera@gmail.com