कैसे रखे अपने बालो का ध्यान

बाल हमारे लिए बहुत ज़रूरी होते है लम्बे,घने बालो की चाहत तो हर किसी की होती है क्युकी सुंदरता का प्रतिक भी होते है काले, लम्बे बाल चाहे पुरुष हो या महिला या कोई छोटा बच्चा सभी को आजकल नए-नए बालो के डिज़ाइन चल रहे है ऐसे में हमको जानना ज़रूरी है की कैसे हम अपने बालो का ध्यान रखे

बालों को अक्सर कई चीज़ें नुकसान पहुंचाती हैं , जैसे नहाने के पानी का तापमान या फिर आस पास का पर्यावरण | बेजान बाल अक्सर रूखे और पतले लगते हैं, और उनको संवार पाना भी मुश्किल होता है |

1) हर दिन बाल न धोएं : कोशिश करें की हर रोज़ के बजाय 2-3 दिन में अपने बालों को धोएं | जब आप अपने बालों को बार बार धोते हैं तो पानी और उत्पादों से आपके सर की त्वचा जो तेल छोडती है उसको भी नुक्सान पहुँचता है ; ये तेल बहुत ज़रूरी होते हैं आपके बालों के स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए | अगर ये तेल आपके बालों में से निकल जाएँ तो आपके बाल कमज़ोर पड़ सकते हैं या फिर वह ज्यादा तेल छोड़ सकते हैं जिनसे आपके बाल बहुत चिपचिपे लगते हैं |

2) अपने हेयर ब्रश को नियम से धोया करें : अपने बालों को धोने के इलावा आप अपने हेयर ब्रश को भी नियम से धोएं | जब आप के बालों में तेल हो तब वो तेल आपके हेयर ब्रश में भी लग सकता है | जब आप बालों को ब्रश करेंगी तो वह तेल आपके बालों में फेल जाएगा

• प्राकृतिक तेलों का प्रयोग करें अपने बालों को पोषण करने के लिए: नारियल का तेल
• बादाम का तेल
• अवोकेडो का तेल
• आलो वेरा

3) ऐसे हेयर टाइस ढूँढें जो आपके बालों को नुकसान न पहुंचाएं: हेयर टाइस से बाल कई बार टूट जाते हैं और दो मुंहे भी हो सकते हैं | अगर आप अपने बालों को ऊपर कर के बांधती हैं तो ऐसे हेयर टाइस ढूँढें जो आपक बालों को उलझाये और तोडें नहीं | आपको अपने बालों को खुली चोटी में छोड़ना चाहिए क्यूँकी आप अगर उन्हें कस के बांधेंगी तो उन्हें ज्यादा नुकसान पहुंचेगा |

4) बाल सुखाने के लिए ज्यादा हेयर डेरय का इस्तेमाल करना बाल को कमजोर बनाता हैं। जिससे बाल डैमेज और झड़ने लगते है।

बालों के लिए नेचरल प्रोटीन-

अंडे में प्रोटीन और अमीनो एसिड, विटमिन (ए, डी और ई) और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो बालों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इसमें मौजूद प्रोटीन की प्रचुर मात्रा और लेसिथिन बालों के फॉलिकल्स को मजबूत बनाते हैं। अंडे की जर्दी बालों में लगाने से प्रदूषण और नुकसादनदेह यूवी किरणों से बाल बाल बचते हैं।

बादाम, अखरोज आदि बालों के लिए कुदरत का वरदान हैं। इनमें आयरन, कॉपर, फॉस्फोरस, विटमिन बी1 और प्रोटीन भरपूर मात्रा में होता है। यह शरीर में हीमोग्लोबिन को बढाता है और नई कोशिकाओं का विकास करता है, जिससे बाल स्वस्थ रहते हैं

शहद में आयरन, कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, विटमिन -बी और सी, एंजाइम्स और अमीनो एसिड पाए जाते हैं। शहद बालों व त्वचा के लिए कुदरती मॉइस्चराइजर का काम करता है। शहद बालों को नर्म, मुलायम, चमकदार और स्वस्थ बनाने में मदद करता है।

केला बालों के लिए भी बहुत लाभदायक है। रोज एक केला खाने से बाल मजबूत होते हैं। इसमें शुगर, फाइबर, थाइमिन, नियासिन और फॉलिक एसिड के रूप में विटामिन ए और बी पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है ।

डेयरी उत्पाद -

दूध, दही और पनीर बालों के लिए फायदेमंद हैं। दूध को बालों में लगाने से बाल मजबूत और चमकदार होते हैं। अगर आपके बाल बेजान और उलझे हुए हैं तो उनमें दूध लगाइए। बाल प्रोटीन से बने होते हैं

हेल्दी बालों के लिए :

- स्मोकिंग ना करें, कैफीन अवॉइड करें, कार्बोनेटेड सोडा वगैरह शरीर को कमजोर करते हैं और बालों की ग्रोथ को भी कम करते हैं।

- हेल्दी डाइट लें और ज्यादा शुगर व फैट कंटेंट वाली डाइट से बचें।

- बालों पर ज्यादा कलरिंग, पर्मिंग वगैरह ना करवाएं।

- बालों को हल्के गर्म पानी से धोएं।

- बालों पर ब्लो ड्रायर व रोलर लगाने से बचें।

- हफ्ते में कम से कम एक बार बालों में ऑयल मसाज जरूर करें। इससे सिर में ब्लड सर्कुलेशन ज्यादा होगा और हेयर फॉलिकल की ग्रोथ अच्छी होगी।

खून में इन्सुलिन ज़्यादा होने पर नर हॉर्मोन एण्ड्रोजन भी तेज़ी से बढ़ने लगता है, जिन महिलाओ में हिर्सुटिज़्म है । रोगी को रेशेदार आहार लेना चाहिए जिसमें ग्लूकोस की मात्रा कम होती है। विटामिन बी6 और विटामिन ई से समृद्ध आहार लेने चाहिए। एंटीऑक्सीडेंट युक्त आहार लें-फल (जैसे जामुन, चेरी और टमाटर) और सब्जियाँ (जैसे कद्दू और शिमला मिर्च)।

भोजन में स्वास्थ्यवर्धक तेल जैसे जैतून का तेल या वनस्पति तेल का प्रयोग करें विटामिन ई एण्ड्रोजन को सामान्य करता है और टेस्टोस्टेरोन के प्रभावों को घटाता है। गेहूँ का तेल, बादाम, सूरजमुखी के बीजों, सेफ्लोवर तेल, पीनट बटर, मक्का का तेल, पालक, ब्रोकोली, और आम में यह विटामिन पाया जाता है।

इनसे परहेज करें

रिफाइंड आहार, जैसे सफ़ेद ब्रेड, पास्ता और विशेषकर शक्कर ना लें। ट्रांस-फैट, जो कि व्यावसायिक रूप से भुनी हुई वस्तुओं जैसे कूकीज, क्रैकर्स, केक्स, फ्रेंच फ्राइज, अनियन रिंग, डोनट्स, और प्रोसेस्ड आहारों में पाया जाता है, को कम या बिलकुल ना लें। शराब और तम्बाकू ना लें।

घरेलू उपाय

शेविंग, वैक्सिंग और ब्लीचिंग अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के अस्थाई उपाय हैं, जो स्थाई हल तो नहीं करते लेकिन बालों की वृद्धि को रोकने में मदद देते हैं।

प्रतिदिन 6-8 गिलास छाना हुआ पानी पियें।

वजन नियंत्रित करने के लिए संतुलित आहार लें और पर्याप्त व्यायाम करें।

पाँच दिनों तक, दिन में दो बार, पुदीने के चाय लेने से पुरुष यौन हारमोंस का स्तर कम होता है।

होमियोपैथिक उपचार- लक्षणों के आधार पर होमियोपैथी में इलाज इसका संभव है

कुछ दवाईया जैसे- ओलियम जेक , थूजा , सीपिया ये दवाई किसी होमियोपैथी विशेषज्ञ की देख रेख में ही ले

ये सारी चीज़े पुरुषो पर भी लागू होती है

होमियोपैथिक उपचार- HAIR GROTONE DROPS बालो के लिए बहुत लाभदायक होता है ‘’Ask your Doctor Column से अपने सवाल पूछ सकते है